Explore these ideas and much more!

Explore related topics

इंदिरा गाँधी कृषि विश्वविद्यालय में कबीरधाम जिले के पंचायत प्रतिनिधियों ने आधुनिक यंत्रों का अवलोकन किया. यहाँ उन्होंने धान की प्रदर्शनी में हजारों किस्में देखी. पंचगव्य के उपयोग से खेती में होने वाले लाभ के बारे में कृषि विश्वविद्यालय के अधिकारियों ने जानकारी दी. गन्ना काटने की मशीन, धनकुट्टी के उपकरण आदि के सम्बन्ध में प्रतिनिधियों को जानकारी दी गई.

इंदिरा गाँधी कृषि विश्वविद्यालय में कबीरधाम जिले के पंचायत प्रतिनिधियों ने आधुनिक यंत्रों का अवलोकन किया. यहाँ उन्होंने धान की प्रदर्शनी में हजारों किस्में देखी. पंचगव्य के उपयोग से खेती में होने वाले लाभ के बारे में कृषि विश्वविद्यालय के अधिकारियों ने जानकारी दी. गन्ना काटने की मशीन, धनकुट्टी के उपकरण आदि के सम्बन्ध में प्रतिनिधियों को जानकारी दी गई.

इंदिरा गाँधी कृषि विश्वविद्यालय में कबीरधाम जिले के पंचायत प्रतिनिधियों ने आधुनिक यंत्रों का अवलोकन किया. यहाँ उन्होंने धान की प्रदर्शनी में हजारों किस्में देखी. पंचगव्य के उपयोग से खेती में होने वाले लाभ के बारे में कृषि विश्वविद्यालय के अधिकारियों ने जानकारी दी. गन्ना काटने की मशीन, धनकुट्टी के उपकरण आदि के सम्बन्ध में प्रतिनिधियों को जानकारी दी गई.

इंदिरा गाँधी कृषि विश्वविद्यालय में कबीरधाम जिले के पंचायत प्रतिनिधियों ने आधुनिक यंत्रों का अवलोकन किया. यहाँ उन्होंने धान की प्रदर्शनी में हजारों किस्में देखी. पंचगव्य के उपयोग से खेती में होने वाले लाभ के बारे में कृषि विश्वविद्यालय के अधिकारियों ने जानकारी दी. गन्ना काटने की मशीन, धनकुट्टी के उपकरण आदि के सम्बन्ध में प्रतिनिधियों को जानकारी दी गई.

राजनांदगांव जिले के पंचायत प्रतिनिधि इंदिरा गाँधी कृषि विश्वविद्यालय पहुंचे. यहाँ उन्होंने आधुनिक कृषि उपकरणों का अवलोकन किया एवं उपयोग की तकनीक के बारे में जानकारी ली. धान की दुर्लभ किस्में देख वे आश्चर्यचकित हो गए. उन्होंने दलहन-तिलहन की किस्मों के सम्बन्ध में जाना-समझा. प्रतिनिधियों ने नई तकनीक के उपयोग से भविष्य में खेती-किसानी करने की बात कही

राजनांदगांव जिले के पंचायत प्रतिनिधि इंदिरा गाँधी कृषि विश्वविद्यालय पहुंचे. यहाँ उन्होंने आधुनिक कृषि उपकरणों का अवलोकन किया एवं उपयोग की तकनीक के बारे में जानकारी ली. धान की दुर्लभ किस्में देख वे आश्चर्यचकित हो गए. उन्होंने दलहन-तिलहन की किस्मों के सम्बन्ध में जाना-समझा. प्रतिनिधियों ने नई तकनीक के उपयोग से भविष्य में खेती-किसानी करने की बात कही

राजनांदगांव जिले के पंचायत प्रतिनिधि इंदिरा गाँधी कृषि विश्वविद्यालय पहुंचे. यहाँ उन्होंने आधुनिक कृषि उपकरणों का अवलोकन किया एवं उपयोग की तकनीक के बारे में जानकारी ली. धान की दुर्लभ किस्में देख वे आश्चर्यचकित हो गए. उन्होंने दलहन-तिलहन की किस्मों के सम्बन्ध में जाना-समझा. प्रतिनिधियों ने नई तकनीक के उपयोग से भविष्य में खेती-किसानी करने की बात कही

राजनांदगांव जिले के पंचायत प्रतिनिधि इंदिरा गाँधी कृषि विश्वविद्यालय पहुंचे. यहाँ उन्होंने आधुनिक कृषि उपकरणों का अवलोकन किया एवं उपयोग की तकनीक के बारे में जानकारी ली. धान की दुर्लभ किस्में देख वे आश्चर्यचकित हो गए. उन्होंने दलहन-तिलहन की किस्मों के सम्बन्ध में जाना-समझा. प्रतिनिधियों ने नई तकनीक के उपयोग से भविष्य में खेती-किसानी करने की बात कही

धमतरी जिले के पंचायत प्रतिनिधियों ने इंदिरा गाँधी कृषि विश्वविद्यालय का भ्रमण किया. यहाँ उन्होंने खेती-किसानी से सम्बन्धित उपकरण देखे. दलहन की विविध किस्में, मटर, मूंग, अरहर, चना आदि के बारे में अधिकारियों ने उन्हें जानकारी दी. उन्नत तकनीक से सब्जियों का उत्पादन करने के सम्बन्ध में प्रतिनिधियों को बताया गया. कृषि सम्बन्धित जानकारी मिलने से प्रतिनिधियों का खेती-किसानी के प्रति ज्ञानवर्धन हुआ. प्रतिनिधियों ने उन्नत तकनीक अपनाने की बात कही.

धमतरी जिले के पंचायत प्रतिनिधियों ने इंदिरा गाँधी कृषि विश्वविद्यालय का भ्रमण किया. यहाँ उन्होंने खेती-किसानी से सम्बन्धित उपकरण देखे. दलहन की विविध किस्में, मटर, मूंग, अरहर, चना आदि के बारे में अधिकारियों ने उन्हें जानकारी दी. उन्नत तकनीक से सब्जियों का उत्पादन करने के सम्बन्ध में प्रतिनिधियों को बताया गया. कृषि सम्बन्धित जानकारी मिलने से प्रतिनिधियों का खेती-किसानी के प्रति ज्ञानवर्धन हुआ. प्रतिनिधियों ने उन्नत तकनीक अपनाने की बात कही.

छत्तीसगढ़ विधानसभा में अध्ययन यात्रा के दौरान राजनांदगांव जिले के पंच-सरपंच पहुंचे. जहाँ उन्हें प्रेक्षा गृह में विधानसभा की संरचना, सत्र एवं समितियों के बारे में जानकारी दी गई. सदन का अवलोकन करने के दौरान यहाँ के अधिकारी श्री बलराम शुक्ला ने उन्हें बैठक व्यवस्था के सम्बन्ध में बताया. प्रतिनिधियों को सेन्ट्रल हाल भी ले जाया गया. विधानसभा परिसर में प्रतिनिधियों ने तस्वीरें भी खिंचाई.

छत्तीसगढ़ विधानसभा में अध्ययन यात्रा के दौरान राजनांदगांव जिले के पंच-सरपंच पहुंचे. जहाँ उन्हें प्रेक्षा गृह में विधानसभा की संरचना, सत्र एवं समितियों के बारे में जानकारी दी गई. सदन का अवलोकन करने के दौरान यहाँ के अधिकारी श्री बलराम शुक्ला ने उन्हें बैठक व्यवस्था के सम्बन्ध में बताया. प्रतिनिधियों को सेन्ट्रल हाल भी ले जाया गया. विधानसभा परिसर में प्रतिनिधियों ने तस्वीरें भी खिंचाई.

धमतरी जिले के पंचायत प्रतिनिधियों ने इंदिरा गाँधी कृषि विश्वविद्यालय का भ्रमण किया. यहाँ उन्होंने खेती-किसानी से सम्बन्धित उपकरण देखे. दलहन की विविध किस्में, मटर, मूंग, अरहर, चना आदि के बारे में अधिकारियों ने उन्हें जानकारी दी. उन्नत तकनीक से सब्जियों का उत्पादन करने के सम्बन्ध में प्रतिनिधियों को बताया गया. कृषि सम्बन्धित जानकारी मिलने से प्रतिनिधियों का खेती-किसानी के प्रति ज्ञानवर्धन हुआ. प्रतिनिधियों ने उन्नत तकनीक अपनाने की बात कही.

धमतरी जिले के पंचायत प्रतिनिधियों ने इंदिरा गाँधी कृषि विश्वविद्यालय का भ्रमण किया. यहाँ उन्होंने खेती-किसानी से सम्बन्धित उपकरण देखे. दलहन की विविध किस्में, मटर, मूंग, अरहर, चना आदि के बारे में अधिकारियों ने उन्हें जानकारी दी. उन्नत तकनीक से सब्जियों का उत्पादन करने के सम्बन्ध में प्रतिनिधियों को बताया गया. कृषि सम्बन्धित जानकारी मिलने से प्रतिनिधियों का खेती-किसानी के प्रति ज्ञानवर्धन हुआ. प्रतिनिधियों ने उन्नत तकनीक अपनाने की बात कही.

इंदिरा गाँधी कृषि विश्वविद्यालय में कबीरधाम जिले के पंचायत प्रतिनिधियों ने आधुनिक यंत्रों का अवलोकन किया. यहाँ उन्होंने धान की प्रदर्शनी में हजारों किस्में देखी. पंचगव्य के उपयोग से खेती में होने वाले लाभ के बारे में कृषि विश्वविद्यालय के अधिकारियों ने जानकारी दी. गन्ना काटने की मशीन, धनकुट्टी के उपकरण आदि के सम्बन्ध में प्रतिनिधियों को जानकारी दी गई.

इंदिरा गाँधी कृषि विश्वविद्यालय में कबीरधाम जिले के पंचायत प्रतिनिधियों ने आधुनिक यंत्रों का अवलोकन किया. यहाँ उन्होंने धान की प्रदर्शनी में हजारों किस्में देखी. पंचगव्य के उपयोग से खेती में होने वाले लाभ के बारे में कृषि विश्वविद्यालय के अधिकारियों ने जानकारी दी. गन्ना काटने की मशीन, धनकुट्टी के उपकरण आदि के सम्बन्ध में प्रतिनिधियों को जानकारी दी गई.

कुतुबमीनार से ऊँचा गिरौदपुरी का जैतखाम, भोरमदेव, छत्तीसगढ़ के पर्यटन और धार्मिक स्थल यानि छत्तीसगढ़ का दर्शन. हमर छत्तीसगढ़ आवासीय परिसर में मुख्य द्वार के सामने लगाई गई प्रदर्शनी में पूरे प्रदेश के ऐतिहासिक स्थलों को देखते हुए कबीरधाम जिले के पंचायत प्रतिनिधि.

कुतुबमीनार से ऊँचा गिरौदपुरी का जैतखाम, भोरमदेव, छत्तीसगढ़ के पर्यटन और धार्मिक स्थल यानि छत्तीसगढ़ का दर्शन. हमर छत्तीसगढ़ आवासीय परिसर में मुख्य द्वार के सामने लगाई गई प्रदर्शनी में पूरे प्रदेश के ऐतिहासिक स्थलों को देखते हुए कबीरधाम जिले के पंचायत प्रतिनिधि.

धमतरी जिले के पंचायत प्रतिनिधियों ने इंदिरा गाँधी कृषि विश्वविद्यालय का भ्रमण किया. यहाँ उन्होंने खेती-किसानी से सम्बन्धित उपकरण देखे. दलहन की विविध किस्में, मटर, मूंग, अरहर, चना आदि के बारे में अधिकारियों ने उन्हें जानकारी दी. उन्नत तकनीक से सब्जियों का उत्पादन करने के सम्बन्ध में प्रतिनिधियों को बताया गया. कृषि सम्बन्धित जानकारी मिलने से प्रतिनिधियों का खेती-किसानी के प्रति ज्ञानवर्धन हुआ. प्रतिनिधियों ने उन्नत तकनीक अपनाने की बात कही.

धमतरी जिले के पंचायत प्रतिनिधियों ने इंदिरा गाँधी कृषि विश्वविद्यालय का भ्रमण किया. यहाँ उन्होंने खेती-किसानी से सम्बन्धित उपकरण देखे. दलहन की विविध किस्में, मटर, मूंग, अरहर, चना आदि के बारे में अधिकारियों ने उन्हें जानकारी दी. उन्नत तकनीक से सब्जियों का उत्पादन करने के सम्बन्ध में प्रतिनिधियों को बताया गया. कृषि सम्बन्धित जानकारी मिलने से प्रतिनिधियों का खेती-किसानी के प्रति ज्ञानवर्धन हुआ. प्रतिनिधियों ने उन्नत तकनीक अपनाने की बात कही.

Pinterest
Search