Pinterest

Explore 28 February and more!

छत्तीसगढ़ विधानसभा में बेमेतरा जिले के पंचायत प्रतिनिधि पहुंचे. जहाँ प्रेक्षा गृह में संसदीय प्रणाली के संबंध में जानकारी दी गई. विधानसभा की संरचना, प्रथम सत्र, संचालन आदि के बारे में बताया गया. परिसर में मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह, विधानसभा अध्यक्ष श्री गौरीशंकर अग्रवाल, संसदीय सचिव श्री लाभचन्द बाफना एवं विधायक श्री अवधेश चन्देल से मुलाकात की. मुख्यमंत्री ने हमर छत्तीसगढ़ योजना के संबंध में चर्चा करते हुए उनके अनुभव पूछे. परिसर में फोटो सेशन कराया गया.

छत्तीसगढ़ विधानसभा में बेमेतरा जिले के पंचायत प्रतिनिधि पहुंचे. जहाँ प्रेक्षा गृह में संसदीय प्रणाली के संबंध में जानकारी दी गई. विधानसभा की संरचना, प्रथम सत्र, संचालन आदि के बारे में बताया गया. परिसर में मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह, विधानसभा अध्यक्ष श्री गौरीशंकर अग्रवाल, संसदीय सचिव श्री लाभचन्द बाफना एवं विधायक श्री अवधेश चन्देल से मुलाकात की. मुख्यमंत्री ने हमर छत्तीसगढ़ योजना के संबंध में चर्चा करते हुए उनके अनुभव पूछे. परिसर में फोटो सेशन कराया गया.

सूरजपुर ज़िले से आए बुजुर्ग पंचायत प्रतिनिधि यही सोच रहे हैं कि उम्र के इस पड़ाव पर भी मैं अपने प्रदेश का शहीद वीर नारायण सिंह अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम देख पाया। सभी प्रतिनिधियों ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम को अपने कैमरे में कैद किया।

सूरजपुर ज़िले से आए बुजुर्ग पंचायत प्रतिनिधि यही सोच रहे हैं कि उम्र के इस पड़ाव पर भी मैं अपने प्रदेश का शहीद वीर नारायण सिंह अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम देख पाया। सभी प्रतिनिधियों ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम को अपने कैमरे में कैद किया।

सरगुजा ज़िले से आए पंचायत प्रतिनिधि छत्तीसगढ़ विधानसभा पहुंचे, जहां विधानसभा के अधिकारी ने प्रतिनिधियों को विधानसभा की कार्रवाई की जानकारी दी। वहीं प्रतिनिधियों ने प्रेक्षागृह, गर्भगृह को बहुत करीब से देखा।

सरगुजा ज़िले से आए पंचायत प्रतिनिधि छत्तीसगढ़ विधानसभा पहुंचे, जहां विधानसभा के अधिकारी ने प्रतिनिधियों को विधानसभा की कार्रवाई की जानकारी दी। वहीं प्रतिनिधियों ने प्रेक्षागृह, गर्भगृह को बहुत करीब से देखा।

बलरामपुर ज़िले से आए पंचायत प्रतिनिधियों का समूह छत्तीसगढ़ साइंस सेंटर पहुंचा। प्रतिनिधि महिलाओं का ये समूह पक्षियों की चहचहाट सुनने के लिए बहुत उत्साहित दिखाई दिया। कुटुम्बसर गुफा का मॉडल, मज़ाकिया आईना, अनंत कुआं ने इन्हें बहुत आकर्षित किया।

बलरामपुर ज़िले से आए पंचायत प्रतिनिधियों का समूह छत्तीसगढ़ साइंस सेंटर पहुंचा। प्रतिनिधि महिलाओं का ये समूह पक्षियों की चहचहाट सुनने के लिए बहुत उत्साहित दिखाई दिया। कुटुम्बसर गुफा का मॉडल, मज़ाकिया आईना, अनंत कुआं ने इन्हें बहुत आकर्षित किया।

बलरामपुर ज़िले से आए पंचायत प्रतिनिधियों का समूह छत्तीसगढ़ साइंस सेंटर पहुंचा। प्रतिनिधि महिलाओं का ये समूह पक्षियों की चहचहाट सुनने के लिए बहुत उत्साहित दिखाई दिया। कुटुम्बसर गुफा का मॉडल, मज़ाकिया आईना, अनंत कुआं ने इन्हें बहुत आकर्षित किया।

बलरामपुर ज़िले से आए पंचायत प्रतिनिधियों का समूह छत्तीसगढ़ साइंस सेंटर पहुंचा। प्रतिनिधि महिलाओं का ये समूह पक्षियों की चहचहाट सुनने के लिए बहुत उत्साहित दिखाई दिया। कुटुम्बसर गुफा का मॉडल, मज़ाकिया आईना, अनंत कुआं ने इन्हें बहुत आकर्षित किया।

छत्तीसगढ़ साइंस सेंटर, ज्ञान-विज्ञान का स्त्रोत, जहाँ महान वैज्ञानिकों के प्रयोगों को आसानी से समझा जा सकता है. सूरजपुर जिले के पंचायत प्रतिनिधियों ने यहाँ ब्लास्ट फरनेस, जादुई नल का पानी समेत अनेक प्रयोगों को माडल के माध्यम से देखा. बस्तर की संस्कृति, वाद्य यंत्रों को देखकर वे बेहद हर्षित हुए.

छत्तीसगढ़ साइंस सेंटर, ज्ञान-विज्ञान का स्त्रोत, जहाँ महान वैज्ञानिकों के प्रयोगों को आसानी से समझा जा सकता है. सूरजपुर जिले के पंचायत प्रतिनिधियों ने यहाँ ब्लास्ट फरनेस, जादुई नल का पानी समेत अनेक प्रयोगों को माडल के माध्यम से देखा. बस्तर की संस्कृति, वाद्य यंत्रों को देखकर वे बेहद हर्षित हुए.

छत्तीसगढ़ साईंस सेंटर पहुंचे सरगुजा जिले के पंचायत प्रतिनिधियों ने विज्ञान के अविष्कारों का अवलोकन किया। यहां उन्होंने बस्तर की जनजातीय परंपराओं और जीवनशैली को उल्लेखित करती प्रदर्शनी देखी। इसके अलावा विज्ञान के विविध प्रयोगों के बारे में जाना। अनंत कुआं, मजाकिया दर्पण, सौरमंडल में ग्रहों की स्थिति आदि देखकर वे बेहद हर्षित हुए।

छत्तीसगढ़ साईंस सेंटर पहुंचे सरगुजा जिले के पंचायत प्रतिनिधियों ने विज्ञान के अविष्कारों का अवलोकन किया। यहां उन्होंने बस्तर की जनजातीय परंपराओं और जीवनशैली को उल्लेखित करती प्रदर्शनी देखी। इसके अलावा विज्ञान के विविध प्रयोगों के बारे में जाना। अनंत कुआं, मजाकिया दर्पण, सौरमंडल में ग्रहों की स्थिति आदि देखकर वे बेहद हर्षित हुए।

छत्तीसगढ़ को यूं ही “धान का कटोरा” नहीं कहा जाता, यहां धान की 23 हजार 250 किस्में पाई जाती हैं। बलरामपुर ज़िले से आए पंचायत प्रतिनिधियों ने इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय पहुंचकर पहली बार धान की इतनी किस्मों को एक साथ देखा। बागवानी, पशुपालन, प्रदेश की संस्कृति को प्रदर्शित करते मॉडल, और टसर कोसाफल (डाबा) संबंधित जानकारी हासिल की।

छत्तीसगढ़ को यूं ही “धान का कटोरा” नहीं कहा जाता, यहां धान की 23 हजार 250 किस्में पाई जाती हैं। बलरामपुर ज़िले से आए पंचायत प्रतिनिधियों ने इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय पहुंचकर पहली बार धान की इतनी किस्मों को एक साथ देखा। बागवानी, पशुपालन, प्रदेश की संस्कृति को प्रदर्शित करते मॉडल, और टसर कोसाफल (डाबा) संबंधित जानकारी हासिल की।

"हमर छत्तीसगढ़" योजना में शामिल सूरजपुर ज़िले से आए पंचायत प्रतिनिधियों ने भ्रमण यात्रा के पूर्व आवासीय परिसर उपरवारा में अपना पंजीयन कराया।

"हमर छत्तीसगढ़" योजना में शामिल सूरजपुर ज़िले से आए पंचायत प्रतिनिधियों ने भ्रमण यात्रा के पूर्व आवासीय परिसर उपरवारा में अपना पंजीयन कराया।

बलरामपुर एवं सरगुजा जिले से आए पंचायत प्रतिनिधियों ने छत्तीसगढ़ विधानसभा में संसदीय प्रणाली के बारे में जाना-समझा। https://www.facebook.com/hamarcg2016/posts/1156687501096101

बलरामपुर एवं सरगुजा जिले से आए पंचायत प्रतिनिधियों ने छत्तीसगढ़ विधानसभा में संसदीय प्रणाली के बारे में जाना-समझा। https://www.facebook.com/hamarcg2016/posts/1156687501096101

बलरामपुर ज़िले से आए पंचायत प्रतिनिधियों का समूह छत्तीसगढ़ साइंस सेंटर पहुंचा। प्रतिनिधि महिलाओं का ये समूह पक्षियों की चहचहाट सुनने के लिए बहुत उत्साहित दिखाई दिया। कुटुम्बसर गुफा का मॉडल, मज़ाकिया आईना, अनंत कुआं ने इन्हें बहुत आकर्षित किया।

बलरामपुर ज़िले से आए पंचायत प्रतिनिधियों का समूह छत्तीसगढ़ साइंस सेंटर पहुंचा। प्रतिनिधि महिलाओं का ये समूह पक्षियों की चहचहाट सुनने के लिए बहुत उत्साहित दिखाई दिया। कुटुम्बसर गुफा का मॉडल, मज़ाकिया आईना, अनंत कुआं ने इन्हें बहुत आकर्षित किया।

सरगुजा ज़िले से आए पंचायत प्रतिनिधियों को विशाल ग्लोब, अनंत कुआं, विज्ञान के बढ़ते आयाम के बारे में छत्तीसगढ़ साइंस सेंटर के डायरेक्टर डॉ. पी.के भट्ट ने बड़ी ही बारीकी से समझाया।

सरगुजा ज़िले से आए पंचायत प्रतिनिधियों को विशाल ग्लोब, अनंत कुआं, विज्ञान के बढ़ते आयाम के बारे में छत्तीसगढ़ साइंस सेंटर के डायरेक्टर डॉ. पी.के भट्ट ने बड़ी ही बारीकी से समझाया।

छत्तीसगढ़ साईंस सेंटर पहुंचे सरगुजा जिले के पंचायत प्रतिनिधियों ने विज्ञान के अविष्कारों का अवलोकन किया। यहां उन्होंने बस्तर की जनजातीय परंपराओं और जीवनशैली को उल्लेखित करती प्रदर्शनी देखी। इसके अलावा विज्ञान के विविध प्रयोगों के बारे में जाना। अनंत कुआं, मजाकिया दर्पण, सौरमंडल में ग्रहों की स्थिति आदि देखकर वे बेहद हर्षित हुए।

छत्तीसगढ़ साईंस सेंटर पहुंचे सरगुजा जिले के पंचायत प्रतिनिधियों ने विज्ञान के अविष्कारों का अवलोकन किया। यहां उन्होंने बस्तर की जनजातीय परंपराओं और जीवनशैली को उल्लेखित करती प्रदर्शनी देखी। इसके अलावा विज्ञान के विविध प्रयोगों के बारे में जाना। अनंत कुआं, मजाकिया दर्पण, सौरमंडल में ग्रहों की स्थिति आदि देखकर वे बेहद हर्षित हुए।

इंदिरा गाँधी कृषि विश्वविद्यालय परिसर में स्थित संग्रहालय का दुर्ग जिले के पंचायत प्रतिनिधियों ने अवलोकन किया. यहाँ उन्होंने घरेलू उपयोग की पारम्परिक वस्तुओं का संग्रह देखा. धान की दुर्लभ किस्मों के बारे में जाना. जैविक खाद का उपयोग, कृषि में महिलाओं के योगदान के संबंध में जानकर वे बेहद प्रसन्न हुए.

इंदिरा गाँधी कृषि विश्वविद्यालय परिसर में स्थित संग्रहालय का दुर्ग जिले के पंचायत प्रतिनिधियों ने अवलोकन किया. यहाँ उन्होंने घरेलू उपयोग की पारम्परिक वस्तुओं का संग्रह देखा. धान की दुर्लभ किस्मों के बारे में जाना. जैविक खाद का उपयोग, कृषि में महिलाओं के योगदान के संबंध में जानकर वे बेहद प्रसन्न हुए.

छत्तीसगढ़ साईंस सेंटर पहुंचे सरगुजा जिले के पंचायत प्रतिनिधियों ने विज्ञान के अविष्कारों का अवलोकन किया। यहां उन्होंने बस्तर की जनजातीय परंपराओं और जीवनशैली को उल्लेखित करती प्रदर्शनी देखी। इसके अलावा विज्ञान के विविध प्रयोगों के बारे में जाना। अनंत कुआं, मजाकिया दर्पण, सौरमंडल में ग्रहों की स्थिति आदि देखकर वे बेहद हर्षित हुए।

छत्तीसगढ़ साईंस सेंटर पहुंचे सरगुजा जिले के पंचायत प्रतिनिधियों ने विज्ञान के अविष्कारों का अवलोकन किया। यहां उन्होंने बस्तर की जनजातीय परंपराओं और जीवनशैली को उल्लेखित करती प्रदर्शनी देखी। इसके अलावा विज्ञान के विविध प्रयोगों के बारे में जाना। अनंत कुआं, मजाकिया दर्पण, सौरमंडल में ग्रहों की स्थिति आदि देखकर वे बेहद हर्षित हुए।

छत्तीसगढ़ विधानसभा में संसदीय प्रणाली के बारे में जानने-समझने के लिए दुर्ग जिले के पंचायत प्रतिनिधि पहुंचे. जहाँ डा. श्यामाप्रसाद मुकर्जी प्रेक्षा गृह में बेमेतरा विधायक श्री अवधेश चन्देल ने उन्हें संबोधित करते हुए हमर छत्तीसगढ़ योजना की जानकारी दी.  परिसर में पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री अजय चंद्राकर से मिले. वहीं मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह, विधानसभा अध्यक्ष श्री गौरीशंकर अग्रवाल, संसदीय सचिव श्री लाभचन्द बाफना से मुलाकात की. परिसर में फोटो सेशन कराया गया.

छत्तीसगढ़ विधानसभा में संसदीय प्रणाली के बारे में जानने-समझने के लिए दुर्ग जिले के पंचायत प्रतिनिधि पहुंचे. जहाँ डा. श्यामाप्रसाद मुकर्जी प्रेक्षा गृह में बेमेतरा विधायक श्री अवधेश चन्देल ने उन्हें संबोधित करते हुए हमर छत्तीसगढ़ योजना की जानकारी दी. परिसर में पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री अजय चंद्राकर से मिले. वहीं मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह, विधानसभा अध्यक्ष श्री गौरीशंकर अग्रवाल, संसदीय सचिव श्री लाभचन्द बाफना से मुलाकात की. परिसर में फोटो सेशन कराया गया.